Network Marketing Kaise Kare in Hindi [ultimate guide] In 2022

Network Marketing Kaise Kare | नेटवर्क मार्केटिंग कैसे करें | Network Marketing Tips in Hindi

चाहे कोई भी बिजनेस हो उसे शुरू करने से पहले उसके बारे में सीखना पड़ता है, उससे जुड़ी बेसिक चीजों के बारे में समझना पड़ता है, तभी उसमें सफलता हासिल की जा सकती है।

नेटवर्क मार्केटिंग भी कुछ ऐसा ही है यहाँ बिना किसी नॉलेज के आप जुड़ तो सकते है, लेकिन एक सफल नेटवर्क मार्केटर बनने के लिए आप इसके बेसिक को समझना होगा।

Hello Friends, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर आज हम बात करने जा रहे है? नेटवर्क मार्केटिंग कैसे करें? (Network Marketing Kaise Kare) ऐसी कौन सी चीजें है जो नेटवर्क मार्केटिंग में जरूरी है? जानेंगे इन सारी चीजों के बारे में? मुझे पूरा विश्वास है कि ये आपके नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस में सहायक साबित होगा।

Network Marketing Kaise Kare

नेटवर्क मार्केटिंग कैसे करें? (Network Marketing Kaise Kare) –

चाहे आप कोई भी बिजनेस या जॉब कर लें, उसे सफल बनाने के लिए आपको मेहनत करनी ही पड़ेगी और नेटवर्क मार्केटिंग भी ऐसा ही है।

नेटवर्क मार्केटिंग में शुरुआती रिजल्ट छोटा होता है, क्योंकि शुरुआत में काफी मेहनत लगती है और रिजल्ट बहुत कम मिलता है, जिसके कारण लोग ये विचार बना लेते है कि यह बिजनेस मेरे लिए नहीं बना है, लेकिन ऐसा नहीं है।

अगर ध्यान से देखा जाए तो इसके भी कुछ नियम और अपने सिद्धांत है जिनपर यह बिजनेस काम करता है।

इन्हे भी पढे: – नेटवर्क मार्केटिंग करने के 21 ultimate फायदे।

हमारे लीडर्स के द्वारा बनाए गए नक्शे कदम पर चलते हुए हम भी उस मुकाम पर पहुँच सकते है, जहां तक पहुँचने का हम सपना देखते है।

नेटवर्क मार्केटिंग में किसी सफल व्यक्ति के अनुभवों को हम अपने जीवन में उतार कर एक सफल नेटवर्कर बन सकते है।

तो चलिए बात करते है कि एक सफल Network Marketing Kaise Kare –

नामों की सूची बनाना –

आप अपने दैनिक जीवन बहुत से लोगों से मिलते होंगे, इनमें से कुछ ऐसे लोग होंगे जिनसे आप रोज मिलते होंगे और कुछ ऐसे जिनसे कभी-कभी या पहली बार मिल रहे होंगे।

नेटवर्क मार्केटिंग लोगों का बिजनेस है, यह बीजें पूरी तरह से उस तरह के लोगों के ऊपर निर्भर करता है जो लोग समूह बनाते है।

और समूह बनाने के लिए आपके पास नामों की लिस्ट होना अनिवार्य है, इसके लिए एक नोटबुक पर लोगों को प्रोस्पेक्टस के आधार पर बांटेंगे।

ध्यान रहे कि ये काम आपको अपनी नोटबुक पर ही करनी है अपने दिमाग में इसे मत रखें वरना इसे जरूर भूल जाएंगे।

इन्हे भी पढे: – नेटवर्क मार्केटिंग मे पैसा कमाने के तरीके।

नामों की सूची बनाते समय अपने अपलाइन की मदद जरूर लें, तो सही तरीके से Network Marketing Kaise Kare इसके लिए जब भी इस तरह की लिस्ट बनाए तो उसे तीन भागों में कुछ इस प्रकार से बांटें –

1. प्राथमिक प्रोस्पेक्ट –

प्राथमिक प्रोस्पेक्ट्स में उन लोगों के नाम लिखने है, जिन्हें आप अच्छी तरह परिचित है या वे जो आपको अच्छी तरह से जानते है, जैसे –

आपके दोस्त और रिश्तेदार तथा पड़ोसी

ऑफिस के दोस्त या बिजनेस से जुड़े लोग

दूसरे आपके परिचित लोग

2. द्वितीय प्रोस्पेक्ट्स –

द्वितीय प्रोस्पेक्ट की सूची में उन लोगों के नाम लिखे जाते हैं जिन्हें आप अच्छी तरह नहीं जानते लेकिन भविष्य में प्रयास करके उनसे बात कर सकते हैं मित्रता बढ़ाई जा सकती है।

इस श्रेणी में मौजूद प्रोस्पेक्ट्स की सबसे बड़ी खास बात यह है कि इस लिस्ट में आपके लिए बहुत बड़ी संभावनाएं छिपी है और इस बात की भी बहुत अधिक संभावना है कि भविष्य का डायमंड भी इसी लिस्ट में से मिल सकता है।

अजनबी लोगों के साथ मिलने की अपार संभावनाएं है इसलिए आप इसे इग्नोर न करें।

अब यहाँ पर एक बड़ी समस्या आती हाई कि लोगों से कैसे मिले ताकि आपसे बात करते समय लोग अपना ध्यान आपके उपर दें?

इन्हे भी पढे: – नेटवर्क मार्केटिंग मे सफल कैसे हो।

इसमें आपको बस इस बात का ध्यान रखना है कि आप जिन लोगों द्वारा से मिल रहे हैं उनके द्वारा कही गई बातों को ध्यान से सुने और बातचीत के समय उनकी दिलचस्पी से संबंधित सवाल पूछिए और लोगों को ऐसे लोगों को अपना दोस्त बनाने हेतु नीचे कुछ सुझाव दिए गए हैं जिन्हें फॉलो कर सकते हैं

1. लोगों को समझने के लिए उनमें दिलचस्पी लेने की आदत को विकसित कीजिए।

2. यदि आपका रिश्ता और शॉपिंग सेंटर ब्यूटी पार्लर जिम और अन्य स्थानों पर जाते हैं तो आपको कई लोगों से मिलने और पैसे बढ़ाने का अवसर मिलेगा सभी के साथ निर्दयता पूर्वक सहायता विकसित करने की आदत बनाएं

3. हर व्यक्ति को इस संभावना के नजरिए से देखिए कि वह इस बिजनेस में आपके साथ जुड़ चुका है या फिर जोड़ने वाला है ऐसा सोचने मात्र से ही आप सामने वाले के साथ उस तरीके से पेश आ सकते हैं जैसा आप चाहते हैं

4. ध्यान दें कि ऐसे किसी भी व्यक्ति के बारे में आप पहले से ही यह अनुभव न बना ले के सामने वाला व्यक्ति जुड़ेगा या नहीं किसी भी व्यक्ति का नाम लिस्ट में से यह सोचकर ना काटे कि वह बिजनेस में दिलचस्पी नहीं लिखा हो सकता कि आप जिसको सोच रहे कि ना करें वही आपका सबसे अच्छा इस बिजनेस के साथ पार्टनर निकल जाए।

यदि आप DXN के साथ जुड़े है तो इसके प्रोडक्ट के बारे में जानकारी के लिए पढ़ें – DXN Product List pdf डीएक्सएन प्रोडक्ट लिस्ट DP, MRP, Pv, Sv

डिस्टेंस लिस्ट बनाएं –

यह तो हो गई प्रोस्पेक्टस की बात अब आपको इसमें एक लिस्ट बनानी है और आपको इन सभी प्रोपेक्टस की लिस्ट को दूसरी हिसाब से छाँटकर रखना, है ताकि आप लोगों को समय के हिसाब से और सही तरीके से अप्रोच कर सकें।

इन्हे भी पढे: – एक सफल नेटवर्क मार्कटर बनने के कुछ टिप्स।

दूसरी के हिसाब से लिस्ट में आपको तीन सूचियां बनानी है जिसमें आपको दूरी के हिसाब से अपनी सूची को मैनेज करना है –

स्थानीय सूची –

इसमें सबसे पहला स्थानीय सूची इस सूची में 200 किलोमीटर की परिधि में रहने वाले हैं आपके निवासी एक 2 घंटे की दूरी पर रहने वाले अपने स्थानीय परिचितों के नाम लिखना चाहिए शुरुआत में इस सूची की मदद से आपको अपने बिजनेस के लिए लोगों से मिलने की शुरुआत करनी चाहिए क्योंकि ऐसे लोगों से आप आसानी से और कम समय में मिल सकते हैं इसलिए आपके लिए शुरूआत में काफी मददगार साबित हो सकता है

दूरस्थ सूची –

इस लिस्ट में ऐसे लोगों के नाम लिखे जो आपके 100 किलोमीटर या आपकी पहली वाली लिस्ट की परिधि से दूर रहते हैं।

इन्हे भी पढे: – नेटवर्क मार्केटिंग मे पैसा कमाने के तरीके।

जब अपने नजदीक के यहां जब पहली लिस्ट वाली में मौजूद लोगों से आप की अधिकतर लोगों से बात हो जाए तो आप इस लिस्ट पर जा सकते हैं क्योंकि आपको इसमें समय देना पड़ेगा इसलिए अपने अनुसार इस लिस्ट के लोगों से मिलने के लिए अपने बिजनेस बढ़ाने के लिए दूसरे चेहरे में संपर्क करना शुरू कीजिए।

अंतराष्ट्रीय सूची –

हो सकता है आपको लेकिन अगर आप दूसरे देशों में बसे लोगों को जानते हैं तो उनका नाम भी इस लिस्ट में शामिल कीजिए अपने अपलाइन से मिलकर जानकारी लीजिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोगों को किस तरह से स्पॉन्सर किया जा सकता है।

यदि आपकी कंपनी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक से अधिक देशों में काम कर रही है तो आप अपने नेटवर्किंग के बिजनेस को इंटरनेशनल लेवल पर ले जा सकते हैं।

Network Marketing Tips in Hindi

संपर्क करना और आमंत्रित करना –

जब आपने लिस्ट बनाने का काम पूरा कर लिया है तो इसके बाद दूसरा चरण आता है लोगों को आमंत्रित करने का।

अपनी लिस्ट में से ऊपर बताए गए टिप्स के अनुसार लोगों से संपर्क करें और उन्हें अपने बिजनेस के बारे में बताएं और प्लान तथा मीटिंग के लिए इन्वाइट करें।

लोगों को किस तरह से अपने तथा अपने बिजनेस के बारे में परिचय देना है इसके बारे में हम किसी अन्य आर्टिकल में बात करेंगे।

जब आप लोगों को आमंत्रित करने के बाद अपने बिजनेस के बारे में जानकारी देने के लिए कुछ तरीके है –

1. उन्हें किसी सेमीनार (ओपन मीटिंग) में ले जाएं

2. होम मीटिंग आयोजित करें

3. आपके द्वारा अकेले ही

4. आपके स्पॉन्सर के मार्गदर्शन में

ऊपर दिए गए तरीकों में से किसी भी तरीके का प्रयोग अपने प्रोस्पेक्ट्स को बिजनेस के बारे में जानकारी देने के लिए कर सकते है।

ऊपर बताए गए अन्य तरीकों में से यदि आप होम मीटिंग का विकल्प चुन रहे है तो नीचे दिए गए इन बातों का ध्यान जरूर रखें –

1 .ध्यान दें यदि आप होम मीटिंग का आयोजन कर रहे है तो कोशिश करें कि यदि व्यक्ति की शादी हुई है तो दोनों पति-पत्नी साथ आए, या कोई दोस्त है तो वो अपने किसी दोस्त को भी साथ लाएं, इस तरह से आप अधिक लोगों से संपर्क बना सकते है।

2. जब भी आप होम मीटिंग के लिए आमंत्रित कर रहे है तो जितने लोगों की लिमिट रख रहे है उससे दोगुने लोगों को इन्वाइट जरूर करें, यदि आपके मीटिंग में क्षमता से अधिक लोग आ भी जाते है तो यह यह अच्छी बात है इसका बाकी के लोगों के ऊपर अच्छा प्रभाव पड़ेगा।

अक्सर यह देखा गया है कि आप जितने लोगों को आमंत्रित करेंगे उनमें से आधे लोग ही आ पाते है, ऐसा नहीं है कि जो लोग नहीं आए है उन्हें छोड़ देना है, बल्कि उनका नाम लिखना है और फिर अगली मीटिंग में उन्हें पूछकर इन्वाइट करना है, हो सकता है कि कुछ लोग समय की कमी के कारण या कुछ अन्य वजहों से न आ पाए हो।

3. खराब से खराब परिस्थितियों में भी यदि केवल एक ही व्यक्ति आए तो भी निराश न हों और ऐसा जताइए कि आपने केवल उन्हीं के लिए ही यह मीटिंग रखी है, भूलकर भी मीटिंग कैंसल न करें।

4. क्योंकि यह एक बिजनेस मीटिंग है इसलिए इसमें शराब, पालतू जानवर, टीवी या बच्चे शामिल न हों तो बेहतर है, इस बात का बहुत खास ख्याल रखें।

5. मेहमानों को जो भी जलपान कराना है वह मीटिंग शुरू होने से 10 मिनट पहले ही पूरा कर लें मीटिंग के बीच में तथा खत्म होने से पहले कोई भी चीज परोसें।

6. यदि कुछ संख्या में लोग आ गए है तो मीटिंग तय किए गए समय पर शुरू कर दें, सुबह का समय है तो कोशिश करें कि 8 से 9 बजे के आसपास रखें ठीक उसी तरह शाम को अधिकतम 8 बजे तक मीटिंग पूरी कर दें।

7. मीटिंग खत्म होने के बाद नए प्रोस्पेक्ट्स को को अपने टीम लीडर जो सफल है उनसे जरूर मिलाएं, यदि ज्यादा लोग है तो कोशिश करें कि बारी-बारी से सभी को अपने सफल लीडर से मिलाएं, इससे आपके प्रोस्पेक्ट के अंदर उस बिजनेस को करने के लिए अंदर से भावना जागृत होगी।

प्लान दिखाना –

जब भी आप अपने बिजनेस के बारे में बता रहे है तो प्लान दिखाना अनिवार्य है, इसके लिए यह जरूरी है कि आपको बिजनेस के बारे में अच्छी तरह जानकारी हो।

यदि आपको जानकारी नहीं है या आपके पास अनुभव की कमी है तो अपने अपलाइन की मदद ले सकते है।

प्लान दिखाते समय मीटिंग में लोगों से पूछिए कि उनके जीवन में की है जो वे सबसे ज्यादा चाहते है या पाना चाहते है या कौन सि चीज है जो वे पूरा करना चाहते है, अधिकतर लोगों की वह समस्या का कारण पैसा ही होता है।

तो जब भी आप प्लान दिखाएं इन बातों को हमेशा ध्यान में रखें –

1. प्लान दिखाना शुरू करने से पहले प्रोस्पेक्ट्स की भलाई के लिए मन में प्रार्थना कीजिए उसके बाद प्लान को दिखाना शुरू कीजिए।

2. याद रखिए कि आप जिस ऊर्जा के साथ काम करते है वह ऊर्जा सामने वाले को प्रभावित जरूर करती है, इसलिए इस दौरान पूरी तरह ऊर्जा से भरपूर रहें, मन में हमेशा इस बात को रखें कि आप सामने वाले की भलाई के लिए यह काम कर रहे है।

3. जब भी आप प्लान दिखरहे हों तो इससे जुड़ी कुछ समायाओं का समाधान खुद ही कर दीजिए अक्सर लोगों को ये समस्या आती है और अधिकतर लोग यह प्रशं पूछते जरूर है – जैसे टाइम नहीं है, मुझे सामान बेचना पड़ेगा, ये कैसा काम है इत्यादि।

4. याद रखिए प्लान दिखान जरूरी है, जब तक आप प्लान दिखाना शुरू नहीं करेंगे तब तक आप आगे नहीं बढ़ेंगे, प्लान दिखते रहने से आपके अंदर समझ विकसित होगी और हर तरह की समस्याओं से सामना कर सकते है।

फॉलो अप और फॉलो थ्रू –

ऊपर के सभी चरणों में फॉलो अप सबसे महत्वपूर्ण स्टेप है यहाँ पर आपके बिजनेस के साथ जुडने वाले लोग मिलते है इसलिए यह जरूरी है कि लोगों के साथ फॉलो अप किया जाए।

जब भी आप किसी को बिजनेस मीटिंग के लिए इन्वाइट कर रहे है तो मीटिंग के 24 घंटे के भीतर उनसे संपर्क करें यदि इससे जुड़ी उनकी कुछ समस्याएं है तो उन्हें दूर करने के साथ बिजनेस से जुडने के लिए आमंत्रित करें।

याद रखें कि 24 घंटे के भीतर प्रोस्पेक्ट के साथ संपर्क करना अनिवार्य है, क्योंकि तब तक उनके दिमाग में बिजनेस के आँकड़े और प्लान एकदम तजरहते है।

जब आप 24 घंटे के भीतर संपर्क करते है तो उन्हें यह याद हो जाता है, कि आप उनके साथ बिजनेस में दिलचस्पी रखते है।

याद रखें कि फॉलो अप की प्रक्रिया कभी-कभी कुछ दिन में समाप्त हो जाती है तो कभ-कभी कुछ महीनों से लेकर साल भी लग जाते है इस दौरान आपको प्रोस्पेक्ट के साथ निरंतर संपर्क बनाए रखना है और उनसे घनिष्टता बढ़ाकर, मित्रता करके उनके सपनों को उभारकर उन्हें बिजनेस से जुड़ी नई जानकारियाँ देते रहना चाहिए।

यह आपको तब तक करते रहना है जब तक कि सही परिस्थितियाँ न आ जाए या बदल जाए ताकि प्रोस्पेक्ट बिजनेस में जुड़ने का निर्णय ले सके।

नए डिस्ट्रिब्यूटर की शुरुआत –

जब प्रोस्पेक्ट्स यह निर्णय ले लेता है कि वो आपके साथ काम करने के लिए उत्सुक है तो उनका स्वागत करें और उन्हें एक नए डिस्ट्रिब्यूटर के रूप में उनका सम्मान करें और आगे काम करते रहने के लिए उन्हें प्रेरित करें।

Summary –

तो दोस्तों नेटवर्क मार्केटिंग कैसे करें? (Network Marketing Kaise Kare) इसके बारे में यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें जरूर बताएं नीचे कमेन्ट बॉक्स के माध्यम से यदि आप इसी तरह के अन्य टोपिक्स पर आर्टिकल चाहते है तो नीचे दिए गए कमेन्ट बॉक्स के माध्यम से हमें जरूर बताएं।

About The Author –

Hello Friends, मेरा नाम Rakesh Kumar Sawant है, मैं एक डिजिटल कंटेन्ट क्रिएटर और www.TechEnter.in का Founder हूँ, इस ब्लॉग पर आपको टिप्स और ट्रिक्स, टेक्नोलॉजी, गैजेट रिव्यू, योजना, ब्लॉगिंग, बैंकिंग और फाइनेंस, पैसे कमाने के तरीके, शेयर मार्केट, सोशल मीडिया और लाइफस्टाइल के साथ ही और भी ढेर सारी टॉपिक से जुड़ी बहुत सी जानकारीयां मिलती है, रोज कुछ नया सीखने के लिए हमारे ब्लॉग पर जरूर जाएं।

close
आजादी का अमृत महोत्सव

हमारी नई पोस्ट की जानकारी लेने के लिए हमे सबस्क्राइब करे।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.